Jammu and Kashmir: An encounter has started at Kanemazar Nawakadal area of rinagar | डाउनटाउन में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच रात 2 बजे से मुठभेड़ जारी, 3 जवान जख्मी; मोबाइल और फोन इंटरनेट बंद

  • इससे पहले रविवार को हुई मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी ताहिर अहमद भट मारा गया था
  • कश्मीर में 6 मई को सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर रियाज नायकू को मारा गिराया था

दैनिक भास्कर

May 19, 2020, 11:03 AM IT

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में सोमवार देर रात दो बजे से सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। इसमें दो जम्मू-कश्मीर पुलिस और एक सीआरपीएफ का जवान जख्मी हो गया है। इलाके में मोबाइल से कॉल और इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। सिर्फ बीएसएनएल की पोस्टपेड सेवा चालू है। दो साल बाद ये पहला मौका है, जब श्रीनगर में इस तरह की मुठभेड़ हुई है। कश्मीर जोन पुलिस ने ट्वीट किया, ‘श्रीनगर के कानेमजार नवाकदल इलाके में एनकाउंटर शुरू हुआ है। जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ अपना काम कर रहे हैं। आगे की जानकारी दी जाएगी।’

दरअसल, इस इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर पुलिस ने देर रात घनी आबादी वाले इस इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू किया। सुरक्षाबलों ने कुछ घरों को घेर लिया तो आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इससे पहले, रविवार को हुई मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी ताहिर अहमद भट मारा गया था। 11 दिन पहले मारे गए रियाज नाइकू के बाद ये दूसरा बड़ा एनकाउंटर था।

कश्मीर जोन पुलिस का ट्वीटः

रविवार को मारा गया था आतंकी ताहिर

16 मई की रात सुरक्षाबलों को डोडा के खोत्रा गांव में ताहिर के होने की सूचना मिली थी। जनवरी 2020 में हिजबुल आतंकी हारून के मारे जाने के बाद से यहां की आतंकी गतिविधियां ताहिर ही संचालित कर रहा था। रविवार सुबह 7 बजे के करीब एक घर के अंदर छिपे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी थी। इसके बाद 5 घंटे चली मुठभेड़ में ताहिर मारा गया था। 

6 मई को हिजबुल का रियाज मारा गया

कश्मीर में 6 मई को सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर रियाज नायकू को मारा गिराया था। वह दो साल से मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में शामिल था। वह बीमार मां से मिलने पुलवामा के गांव बेगपोरा आया था। पुलिस को इस गांव में नायकू और उसके कुछ साथियों की मौजूदगी का इनपुट मिला था। सुरक्षाबलों ने नायकू के शव को परिवार के पांच लोगों के सामने सोनमर्ग के उस कब्रिस्तान में दफनाया, जहां इन दिनों आतंकियों के शव दफनाए जाते हैं।

कश्मीर में इस साल अब तक हुए अन्य एनकाउंटरः

22 अप्रैल: शोपियां में चार आतंकवादियों को मार गिराया। 
17 अप्रैल : राज्य में दो अलग-अलग जगहों पर मुठभेड़ हुई, इसमें चार आतंकी मार गिराए गए थे। 
11 अप्रैल:  कुलगाम जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी, इसमें आतंकी हथियार छोड़कर भाग गए थे।
7 अप्रैल: सेना ने आमने-सामने की लड़ाई में 5 आतंकी मार गिराए थे। यह कश्मीर में साल का सबसे मुश्किल ऑपरेशन था। इसमें सर्जिकल स्ट्राइक कर चुकी पैरा यूनिट के 5 जवान शहीद हो गए थे।
4 अप्रैल: कुलगाम में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में हिजबुल के 4 आतंकियों को मार गिराया।
15 मार्च: अवंतीपोरा जिले के वटरीग्राम में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया।
22 फरवरी: दक्षिण कश्मीर के संगम बिजबेहरा में जवानों और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। दो आतंकी मारे गए।
19 फरवरी: पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर के दौरान 3 आतंकियों को ढेर किया।
5 फरवरी: श्रीनगर के पास मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे, एक सीआरपीएफ जवान शहीद हुआ था। बाइक पर आए 3 आतंकियों ने सीआरपीएफ चैकपोस्ट पर फायरिंग की थी।
31 जनवरी: जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर ट्रक में छिपे 4-5 आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया था। ट्रक को नगरोटा के टोल प्लाजा पर चैकिंग के लिए रोका गया था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। मुठभेड़ के दौरान 3 आतंकी मारे गए, जबकि एक पुलिस जवान जख्मी हो गया। ट्रक का ड्राइवर पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी आदिल डार का चचेरा भाई है और वही आतंकियों का मुख्य हैंडलर था।
25 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें 2 पाकिस्तानी आतंकी कारी यासिर और बुरहान शेख मारे गए थे। यासिर जैश-ए-मोहम्मद का कश्मीर एरिया कमांडर था। 
21 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतिपोरा में मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे। सेना का एक जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एसपीओ शहीद हुए थे।
20 जनवरी: शोपियां जिले में मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के 3 आतंकी मारे गए थे।



[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *